समाधि कविता रानी लक्ष्मी बाई के वीरता के प्रति सम्मान अर्पण करने का संदेश देता है।

स्वतन्त्रता के लिए जो लड़ाई रानी लक्ष्मी बाई ने लड़ी उसकी वीरता की कहानी इस समाधि मे दबे राख अनुभव करा देंगे। यह वही समाधि है जहाँ लक्ष्मी बाई ने अंतिम शांस ली थी । इस समाधि मे रानी के अद्भुत विजेता होने की यादें छिपि हैं ।

Samadhi Rani Lakshami Bai Saraans

इस समाधि से कहीं सुंदर-सुंदर समाधि हमे दिखाई देंगे, लेकिन यह समाधि स्वतंत्रता को जीवित रखने की चिंगारी समाए हुए है । यह वीरों के अमर कहानियों की याद दिलाता है । यह समाधि देशप्रेम , आत्म सम्मान और वीरता का अद्भुत प्रतीक है जो रानी को मर्दानी की तरह अमर कर दिया । स्वतंत्रता को कैसे बनाए रखा जा सकता है उसका एक मजबूत संदेश यह समाधि देता है । स्वतंत्रता के प्रति नारी मे यह प्रेम, वीरता और इच्छाशक्ति सायद ही कहीं इतिहास मे दिखाई दे ।

सारांश = summary

………..सुभद्रा कुमारी चौहान ………….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *