233 Words Hindi Essay

बाढ़ को रोकने और नियंत्रित करने में वन एक प्रमुख भूमिका निभाते हैं। अपनी गहरी जड़ों में वृक्ष पानी का भंडार इकट्ठा करतें हैं । वन मिट्टी में पानी को जाने की आसान सुविधा प्रदान करते हैं। वे अत्यधिक पानी को नष्ट होने से भी रोकते हैं। और इसतरह भूस्खलन और ऊपरी सतह के क्षरण को भी रोकते हैं। अधिकांश बाढ़ संबंधी आपदाएं वनों की कटाई के कारण होती हैं।

 Role of Forest in Controlling Flood

जंगल के पानी रखने की क्षमता बहुत से गुणों पर आधारित है। जैसे उसमे से एक है वनो का फैला हुआ क्षेत्रफल । ३०-४०% प्रतिशत क्षेत्रफल मे फैला हुआ मजबूत जंगल द्रुत गति वाले बाढ़ को ब्रेक लगाने मे काफ़ी हद तक कामयाब होता है। और इस तरह बहुत अधिक जीवन और संपत्ति का नुकसान को बचा लेता है । और बाढ़ से होने वाले नुकसान को बहुत कम करता है।

वन सूखा को रोकते हैं। वन सूखा और बाढ़ के मध्य एक बफर स्टॉक का कम करते हैं । इस तरह वन इन दोनो के बीच संतुलन बनाए रखने का कम करते हैं।

वन पृथ्वी पर एक वरदान है । वनों का पानी होल्ड करने की क्षमता इनका सबसे महत्वपूर्ण गुण हैं । इस कारण ही वन बाढ़ को रोकने मे सबसे महत्वपूर्णा भूमिका निभा पाते हैं।

वन आखों की ठंढक हैं। वन ईकोसिस्टम को संतुलित रख कर परोक्ष रूप से हम सब को बड़े नुकसान से बचाते हैं।

READ :  Essay If there would be No Animal on the Earth in Hindi | क्या होता यदि पृथ्वी पर जानवर नहीं होते